About Mithila Student Union

मिथिला स्टूडेंट यूनियन भारतीय सोसाइटी अधिनियम, 1860 के अन्तर्गत 30-मार्च -2015 को तत्कालीन पंजिकार द्वारा पंजीकृत किया गया। जिसका पंजीयन संख्या – SOCIETY/WEST/2015/8901615 हैं.

उध्देश्य(Objective):-
मिथिला स्टूडेंट यूनियन मिथिला के क्षेत्र एवं छात्र के विका के लिए एक गैरराजनैतिक प्रतिबद्ध संस्था हैं जो मिथिला के हर क्षेत्र एवं हर वर्ण, हर जाति के छात्र से भेदभाव किये बिना मिथिला के क्षेत्र एवं छात्र के विका में सदा साथ देगी. सरकार द्वारा दिए जा रहे फायदे को लोगो तक पहुँचाने एवं इसके बारे में जानकारी आम लोगो को उपलब्ध करवायेगी. स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी द्वारा दिए जा रहे सुविधा को छात्र तक पहुँचाने में मदद करेगी एवं उन्हें उनके हक के लिए प्रेरित करेगी और साथ ही प्राइवेट कोचिंग संस्था या स्कूल के लूट के महामारी से छात्रो एवं उसके मातापिता को अवगत करवायेगी एवं प्राइवेट कोचिंग या स्कूल द्वारा किये जा रहे मनमानी को रोकेगी. छात्रो से सम्बंधित हर समस्या के समाधान के लिए उचित कदम उठाएगी . मिथिला क्षेत्र एवं छात्र के विका के लिए मुआयना करेगी एवं साथ ही जरुरी हो तो समबन्धित संस्था पर RTI फाइल करेगी एवं उसे मिथिला हित के लिए उपयोग में लाएगी. मिथिला के संस्कृति, मान्यताएं, भाषा एवं धरोहर को बचाने के लिए हर संभव प्रयाश करेगी एवं सदा अग्रसर रहेगी I

क्षेत्र(scope):-
मिथिला के लोगों को धयान में रखते हुए भारत के सम्पूर्ण क्षेत्र , विद्यालय एवं विश्वविद्यालय में काम करेगी जहाँ मिथिला के लोग पढने या रोजगार के प्राप्ति के लिए जाते हैं एवं वहां उनके द्वारा झेले जा रहे समस्या का हर संभव समाधान करेगी और साथ ही उन्हें मिथिला के संस्कृति से जोड़े रखने के लिए प्रेरित करेगी.

 

Registration Certificate

हमारे बारे में अहम जानकारियां

*हमारा गठन कब हुआ ?

मिथिला स्टूडेंट यूनियन का गठन जनवरी 2015 में हुआ ।

*यह किस तरह का संगठन है ?

यह भारतीय संविधान और कानून के तहत सोसाइटी रजिस्ट्रेशन एक्ट के प्रावधानों के अन्तर्गत निबंधित संस्था है। यह पूर्णतः गैर राजनीतिक और गैर लाभकारी संस्थान है जिसका उद्देश्य मैथिल छात्र और मिथिला का संपूर्ण विकास है।

*मिथिला और मैथिली के नाम पर अनेक संस्थाओं के होते हुए भी एक नई संस्था MSU का जन्म क्यों हुआ ?

इसका जवाब पाने के लिए कुछ सवाल अपने आप से पूछिए

1. अनेक संस्थाओं के होते हुए भी मिथिला की छवि क्या है ?

2. मिथिला और मैथिल हित के नाम पर चलने वाली अधिकांश संस्थाओं की छवि और विश्वसनीयता कितनी है ?

3. क्या आप इन संस्थाओं पर भरोसा करते हैं ?

4. क्या मिथिला एक विकसित क्षेत्र है ?

5. क्या मिथिला के लोग अन्य प्रांतो की तरह अपनी भाषा और अपनी संस्कृति के रूप में एक अलग पहचान रखते हैं और इस पर गर्व करते हैं ?
इन सभी सवालों का समाधान ढूंढने और मिल कर प्रयास करने के लिए मिथिला स्टूडेंट यूनियन की ओर से एक नई कार्य संस्कृति विकसित की जा रही है। आप इसके सहभागी बन सकते हैं।

*यह अन्य संगठनों से अलग किस तरह है ?

मिथिला स्टूडेंट यूनियन का विश्वास केवल बोलने में नहीं काम करने में है। जनवरी 2015 में गठन के छह महीनों के दौरान हमारे काम को देखिए । हम कर दिखाते हैं। (www.mithilastudentunion.com/our-work )

*हमारे सहयोगी कौन हैं ?

मिथिला और मैथिली से सहानुभूति रखने वाले सभी लोग हमारे सहयोगी हैं।

*इसका उद्देश्य क्या है ?

मिथिला का संपूर्ण विकास ताकि शिक्षा और रोजगार के लिए दर-दर भटकने और पलायन के लिए अभिशप्त मिथिला के तमाम लोगों को अपने क्षेत्र में हर सुविधा मिले और वे देश के विकास में मजबूती के साथ अपनी भागीदारी निभा सकें।
अलग-अलग धर्म, पंथ, जाति, गोत्र, कुल, मूल और गांव के झूठे मकड़जाल में फंसे लोग एक मैथिल- एक मिथिला की पहचान बनाएं और यहां के वासी अपनी सामूहिक पहचान से पूरी दुनियां में जाने जाएं।